आम जन से लेकर जनप्रतिनिधि तक इंदौर में बढ़ते अपराध से हैं चिंतित

नाइट पब कल्चर, रात में शराब परोसने पर रोक की मांग

विधायक गोलु शुक्ला की सीएम के नाम चिट्ठी

इंदौर, 03 जून 2024

एक तरफ आचार संहिता लगी है दूसरी तरफ अपराधों का ग्राफ बढ़ रहा है । आमा जन से लेकर जन प्रतिनिधि भी अपराधों के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं , अधिकांश अपराध नशे में अंजाम दिये जा रहे हैं । आम जन से लेकर जनप्रतिनिधि तक रात में शराब परोसे जाने पर प्रतिबंध की मांग कर रहे हैं । इंदौर की विधान सभा क्षेत्र क्रमांक 3 से विधायक गोलु शुक्ला ने सीएम को पत्र लिख कर नाइट कल्चर पर रोक लगाने की मांग की है।

ये लिखा है विधायक गोलु शुक्ला ने पत्र में:-

“इंदौर शहर प्राचीन धार्मिक विरासत, समृद्ध शाली इतिहास और सांस्कृतिक गौरव का शहर है, पिछले कुछ वर्षों में इंदौर ने विकास के नए आयाम गढ़े है। कला संस्कृति धर्म, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में इंदौर महती भूमिका निभा रहा है। हमारा शहर म.प्र. के शैक्षणिक विकास का केंद्र बनकर उभरा है, और पूरे प्रदेश से बच्चे यहां अध्ययन हेतु आते है किंतु अपराध जगत के लोग इन्ही मासूमों को अपना शिकार बनाकर इन्हे नशे और ड्रग्स की लत लगाकर इंदौर शहर की संस्कृति को खराब करने में लगे हुए है। पिछले कुछ वर्षों से इंदौर में बार और पब (नाइट कल्चर) काफ़ी मात्रा में खुले है जिसके कारण इन जगहों पर युवा वर्ग का आवगमन भी बढ़ा है और नशे के शिकार होकर वाद-विवाद, छेड़खानी और लूट पाट की घटनाओं में भी वृद्धि हो रही है। हमारा इंदौर इस नाइट कल्चर का अभ्यस्त नहीं है, इंदौर का नागरिक वर्षों से सराफा में पूरी रात खाने खिलाने का आनंद उठा रहा है, किंतु कोई आपराधिक घटना नहीं हुई किंतु इस पब कल्चर के कारण इंदौर शहर की छवि धूमिल होती जा रही है और अपराध की घटनाओं में बढ़ोतरी होती जा रही है।

मेरा माननीय से अनुरोध है कि इंदौर की संस्कृति को बचाने हेतु इस पब कल्चर (नाइट कल्चर) पर रोक लगाए पुलिस प्रशासन को सख्त निर्देश प्रदान करें कि इंदौर में सराफा के अलावा अन्य सभी व्यवसायिक गतिविधियों पर कड़ी निगरानी करे एवं डिस्को, पब, बार जैसे प्रतिष्ठानों को एक निर्धारित समय के पश्चात आवश्यक रूप से बंद करवाए ताकि इंदौर की शांति प्रिय जनता अपने शहर में शांति और सुकून के साथ निवास कर सके ।“

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *